Saturday, 23 July 2016


 लेखक: बलराज सिंह सिद्धू 
बलराज सिंह सिद्धू प्रवासी पंजाबी लेखकों में से सबसे अल्प आयु का एक स्थापित और कददावर नाम है। 16 मार्च को जगराऊँए जिला.लुधियाना में जन्में बलराज सिद्धू बचपन से ही इंग्लैंड के सीने में सिथति बर्मिंघम शहर में बसा हुआ है। उसने अपने श्रमए लगनए कला और विषयों की विलक्षणता के साथ पूरी दुनिया में अपने लिए विशाल पाठक वर्ग पैदा किया हुआ है। उसका शुमार इंग्लैंड के युवा और अधिक पढ़े जाने वाले लेखकों में होता है। पंजाबी साहित्य के क्षेत्र में बहुत सारे विषय ऐसे हैंए जिन पर सर्वप्रथम कलम आजमार्इ सिफऱ् बलराज सिद्धू ने ही की है। उसको प्रकिति द्वारा यह वर प्राप्त है कि वह जब अपने हुनर और कला द्वारा नवीन दृषिटकोण से बेबाकी के साथ कोइ बात लिखता है तो पुराने कलमकारों द्वारा बनाइ सारी धारणायें रदद करके पाठकों के मनों में एक नया बिंब उभार देता है। बलराज सिद्धू कहानी लिखने के लिए जन्मा है या कहानी का आविष्कार बलराज सिद्धू के लेखन के लिए ही हुआ हैए इसका निर्णय करना कठिन है। उसकी पुस्तकों की बिक्री और फेसबुक जैसे सोशल नेटवर्किंग मीडिया पर उसकी रचनाओं को मिलने वाले हुंकारे ने यह सिद्ध किया है कि शिव कुमार बटालवी ;पंजाबी कविद्ध के बाद नौजवान महिलायों द्वारा शिददत से यदि किसी पंजाबी साहित्यकार को पढ़ा जाता है तो वह बलराज सिंह सिद्धू है। बलराज सिद्धू शब्दों का ऐसा शिल्पकार है कि उसका जादू पाठक के सिर पर चढ़कर बोलता है और उसकी कोर्इ भी रचना पढ़ते समय बीच में छोड़ पाना असंभव हो जाती है। 

घरेलू नाम: राज 
जन्म: 16 मार्च 1976, जगरावां, जिला-लुधियाना(पंजाब) 
प्रारंभिक शिक्षा: शिवालिक बोर्डिंग स्कूल, चंडीगढ़़। 
स्कूली शिक्षा: स्मैदिक हाल बॉयज़ हाई स्कूल, बर्मिंघम, यू.के.। 
उच्च शिक्षा: रॉयली रिज़ीयश कालेज, शैडवैल कालेज एवं ऐस्टन यूनीवर्सिटी, यू.के.। 
संप्रति: लेखन एवं पत्रकारिता। 
नागरिकता: ब्रितानवी। 

बलराज सिंह सिद्धू की अन्य पुस्तकें: 
1 अणलग्ग (कहानी संग्रह)-1999 
2 तप (उपन्यास)-2000 
3 नंगियाँ अक्खियाँ (कहानी संग्रह)-2002 
4 वस्त्र (उपन्यास)-2002 
5 मोरां दा महाराजा (ऐतिहासिक कहानी संग्रह-पंजाबी में)-2014 
6 मोरां का महाराजा (ऐतिहासिक कहानी संग्रह-हिंदी में)-2014 
7 अग्ग दी लाट: प्रिंसैस डायना (उपन्यास पंजाबी में)-2015 
8 जुगनी (निबंध संग्रह) 2016 
9 शहीद (उपन्यास पंजाबी में)-2016 

पंजाबी से अंग्रेजी में अनुवाद:  
10 कबड्डी - ए नेटिव गेम ऑफ पंजाब- 2003 

हिन्दी में शीघ्र प्रकाश्य पुस्तकें: 
राजकुमारी डायना: दिलों की रानी की प्रेम कहानी (उपन्यास) 
मस्तानी (उपन्यास) 
शहीद (उपन्यास) 
वस्त्र (उपन्यास) 

बलराज सिंह सिद्धू के लिखे गीतों को आवाज़ देने वाले गायिकों की सूची: 
अंग्रेज अली(नचदी दे मितरां ने नाल नचणा और उधम सिंह धोखा) सुदेश कुमारी, निर्मल सिद्धू, मंगी माहल, हरदेव माहीनंगल, माशा अली, राशी रागा, मंजीत रूपोवालिया, जसविंदर जस्सी, बख्शी बिल्ला, बलविंदर मत्तेवाडि़या, संजय धालीवाल, रणबीर राणा, रमेश आलम, मनजीत गिल, मनी कमल, गुरमेज मेली, गुरजीत मल्ली, नूरां लाल, मनिंदर बावा, कलविंदर किंदा, मीनू सिंह। 

अन्य 
लंबी कहानी ‘कूकर’ का अनुवाद हिन्दी की साहित्यिक पत्रिका ‘मंतव्य’ के ‘लंबी कहानी अंक’ (जून 2016) 310 लेख प्रकाशित और  'चेतना' के  अप्रैल -जून 2016 ‘पंजाबी कहानी विशेषांक’ में  लघुकथा औरत... औरत... औरत...’  प्रकाशित।  50 पंजाबी गीत रिकार्ड हुए। 

Contact: 0044 7713038541 (Whatsapp, Tango, Vibre, Line) 
e-mail: balrajssidhu@yahoo.co.uk

No comments:

Post a Comment